ये दिन भी क़यामत..

"ये दिन भी क़यामत की तरह गुज़रा है !
         न जाने क्या बात थी हर बात पर रोना आया !!"

0 comments:

Post a Comment